बजरी और निर्माण रोक से मजदूरों पर रोजी रोटी का संकट

नसीराबाद की निवर्तमान अध्यक्ष शारदा मित्तल वाल ने उठाई मजदूरों की समस्या

नसीराबाद (मुकेश वैष्णव) बजरी बंद और निर्माण कार्य पर रोक से मजदूरों पर आए संकट को दूर करने के लिए नसीराबाद की निवर्तमान नगर पालिका अध्यक्ष शारदा मित्तल वाल गोमा ने मुख्य मंत्री ,जिला कलेक्टर को समस्या निराकरण करने के लिए पत्र लिखा । पत्र में बताया कि राज्य सरकार द्वारा एक जनवरी से बजरी खनन पर रोक लगा दी। इसके चलते बजरी और पत्थर खनन और विक्रय नही होने से दिहाड़ी मजदूरो एवम भवन निर्माण मिस्त्रियों पर रोजगार का संकट उत्पन्न हो गया । जिससे रोक के बाद बजरी की चौगुनी कीमत होने से आमजन को बजरी खरीदने पर समस्या का सामना कर पड़ रहा है ‌ इससे पूर्व नसीराबाद छावनी क्षेत्र में कई भवन निर्माण अनुमति प्रकिया के कारण छावनी परिषद ने बंद करवा दिए जिससे पहले ही कार्य बंद होने से मजदूरों की स्थिति अब बद से बदतर हो गई।
जबकि कुछ साल पहले नोटबंदी होने से पैसों की लिमिट के कारण 1 साल तक कार्य ठप हो गया । फिर 2 साल कोरोना महामारी ने आर्थिक रूप से प्रभावित कर दिया ।अब बजरी बंद होने के बाद मजदूरों की रोजी रोटी पर संकट खड़ा दिया । जिससे रोजगार की समस्या होने से इनके परिवार का पालन पोषण करना मुश्किल हो गया और भवन निर्माण के साथ कार्य करने वाले बैलगाड़ी वाले, बिजली , नल,खाती,आदि पर भी रोजगार का प्रभाव पड़ा । जिससे मजदूरों के साथ इन में भी असंतोष है ।
जनसुनवाई में मौखिक रूप से मजदूरों द्वारा बताए इस संकट का मजदूरों के हितों में शीघ्र निराकरण करने के लिए अवगत करवाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *